Monday, December 09, 2013

काश.... ये काश ना होता..


काश.... ये काश ना होता..
ऐसा कोई अल्फ़ाज़ ना होता


सच होते सपने सारे
काश.... ये काश ना होता

सच होते सपने सारे
अधूरे सपनो का कोई राज़ ना होता

समय यूँ हाथ से ना निकलता
रेत सा ना फिसलता



कर लेते सब कुछ जो चाहा
ना कर पाए ऐसा कोई काम ना होता

काश..... ये काश ना होता है
ऐसा कोई अल्फ़ाज़ ना होता

Great People.. Love You All :)